Sunday , April 14 2024
How can we improve my Hindi website rank in Google

How can we improve my Hindi website rank in Google?

How can we improve my Hindi website rank in Google: दरअसल इंग्लिश ब्लॉग का SEO करना जीतना आसान है हिंदी ब्लॉग का SEO करना उतना ही मुश्किल है। मुख्य रूप से देखा जाए तो अंग्रेजी ब्लॉग का SEO करना बहुत आसान है, लेकिन सर्च इंजन पर रैंक करना उतना ही मुश्किल है, जबकि हिंदी में इसके ठीक विपरीत होता है, हिंदी ब्लॉग को रैंक करना आसान है, लेकिन ब्लॉग का SEO करना बहुत मुश्किल है। तो इसका उपाय क्या है ?

How can we improve my Hindi website rank in Google?

अपने हिंदी ब्लॉग का SEO कैसे करें? | Hindi me blog kaise likhe

इन सवालों का जवाब आपको इस पोस्ट में मिलेगा जिससे आपको अपने ब्लॉग और पोस्ट को रैंक करने में बहुत आसानी होगी। वैसे तो मैं 3-4 साल से ब्लॉगिंग कर रहा हूँ, लेकिन मैं एक अंग्रेजी ब्लॉगर था,

लेकिन अपनी मातृभाषा हिंदी का समर्थन करने के लिए और हिंदी में तकनीक के बारे में जानकारी देने के लिए, मैंने एक हिंदी ब्लॉग शुरू किया, और कभी कभी इंग्लिश में भी करता हु, लेकिन कुछ दिनों के बाद मुझे एहसास हुआ हिंदी ब्लॉग के SEO और अंग्रेजी ब्लॉग के SEO में बहुत अंतर होता है क्योंकि दोनों का फॉन्ट अलग होता है और दर्शक भी बिना ज्यादा समय लगाए मुद्दे की बात पर आ जाते हैं।

सर्च इंजन का मुख्य भाग कीवर्ड यानी Search Query होता है, इसके जरिए लोग आपके ब्लॉग तक पहुंचते हैं, लेकिन हिंदी ब्लॉग में मुख्य समस्या यह है कि लोग एक ही फॉन्ट में Query नहीं करते हैं,

आइए जानते हैं कि हिंदी दर्शक कैसे सर्च करते हैं।, मैं Android मोबाइल के बारे में एक सरल उदाहरण लेता हूँ, यदि कोई हिंदी उपयोगकर्ता Android के बारे में जानकारी चाहता है, तो वह इस तरह खोजता है।

  • What is an android?
  • What is an android in Hindi?
  • Android Use
  • Hindi top keyword research

आप देख सकते हैं कि मैंने ऊपर दिए गए कीवर्ड प्लानर के जरिए इन सभी Queries का सर्च वॉल्यूम बताने की कोशिश की है। अब आपको पता चल गया होगा कि लोग कैसे सर्च करते हैं लेकिन Google या अन्य सर्च इंजन आपको किसी एक Query के लिए रैंक करता है। और जिस भी query के लिए आपकी साइट रैंक करेगी आपको उस Query के हिसाब से ही content create करना होगा।

जबकि अंग्रेजी में केवल एक ही Query होती है जैसे “Android” क्या है”, इससे यूजर भ्रमित नहीं होता है और न ही ब्लॉगर, लेकिन हिंदी ब्लॉग में यूजर और ब्लॉगर दोनों के लिए बहुत भ्रम होता है,

इसलिए इस भ्रम के कारण मुझे हिंदी ब्लॉग के SEO के बारे में रिसर्च करने लगा। मैंने कई लोकप्रिय और उच्च ट्रैफ़िक हिंदी ब्लॉगर्स की साइट का विश्लेषण किया, जैसे उनके शीर्ष कीवर्ड और पृष्ठ, वे अपने ब्लॉग का शीर्षक कैसे रखते हैं आदि। मेरा भ्रम इतने से दूर नहीं हुआ, मुझे अन्य संदेह थे जैसे फ़ोकस कीवर्ड कैसे खोजें I , URL कैसे लिखें आदि।

मैंने पूरे 1 महीने की रिसर्च की और मुझे मेरे सभी सवालों के जवाब मिल गए, आज मैं आपके साथ शेयर करूंगा ताकि आप भी एक हाई ट्रैफिक हिंदी वेबसाइट बना सकें।

दोस्तों, आप जो भी कोशिश करते हैं, जैसे सोशल मीडिया में शेयर, ट्रैफिक के लिए आदि। लाखों लोगो को करते है और मैं अपनी नई पोस्ट रोजाना शेयर करता हूं लेकिन मेरे ब्लॉग पोस्ट को पढ़ने वाले उन लाखों लोगों में से शायद ही किसी ने पोस्ट को लाइक किया होगा या उस पर कमेंट किया होगा।

लेकिन मैं यह कहूंगा कि हिंदी ब्लॉग की सोशल मार्केटिंग के लिए आप अपने ब्लॉग में सोशल मीडिया शेयरिंग बटन का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे लगाएं और एक पेज और ग्रुप बनाएं, उस पर ऑटो पोस्ट शेयरिंग लगाएं, बस SEO को ज्यादा से ज्यादा समय दें क्योंकि यह आपको लॉन्ग टर्म में SEO की सफलता दिला सकता है।

अब बात करते हैं SEO की, तो शायद आप जान गए होंगे कि SEO के मुख्य कारक क्या हैं, अगर नहीं तो मैंने इसे नीचे शेयर किया है, आप पढ़ सकते हैं

How can we improve my Hindi website rank in Google

SEO EXAMPLE:


CREATE QUALITY CONTENT
PROMOTE YOUR CONTENT
CONNECT OTHER IN YOUR FIELD

  • TITLE WITH LOW KD (KEYWORD DIFFICULTY)
  • META DESCRIPTION WITH TITLE
    URL WITH TITLE
  • BREADCRUMBS AND NAVIGATIONS
  • QUALITY CONTENT AND KEYWORD SEARCH
  • ANCHOR TEXT AND INTERLINKING
  • IMAGE WITH ALT TAG
  • USE HEADING – H1, H2, H3
  • ROBOT.TXT
  • GOOGLE MOBILE SITE
  • BACKLINKS
  • WEBMASTER SUBMISSION

यहां कुछ युक्तियां दी गई हैं जिनका उपयोग आप अधिक ऑर्गेनिक ट्रैफ़िक प्राप्त करने के लिए कर सकते हैं:

  • अच्छा कीवर्ड रिसर्च
  • ऑन-पेज ऑप्टिमाइज़ेशन
  • अपने दर्शकों को समझें
  • सबसे अच्छी Content बनाएं जो आप कर सकते हैं
  • सबसे पहले ट्रैफ़िक प्राप्त करने के लिए सबसे long phase वाले कीवर्ड पर रैंक करने का प्रयास करें।
  • लगातार लिखें और पोस्ट करे।
  • टियर लिंकिंग
  • कौन से लिंक खराब और अच्छे हैं इसका पता लगाना
  • अपने विश्लेषिकी की निगरानी करें और अपने डेटा का विश्लेषण करें
  • कॉल टू एक्शन का प्रयोग करें

अपने पोस्ट को फर्स्ट पेज पे कैसे रैंक करे

अपने पोस्ट को फर्स्ट पेज पे कैसे रैंक करे?

अपने पोस्ट को फर्स्ट पेज पे रैंक करने के लिए आप अपने वेबसाइट के कंटेंट को दूसरे प्लेटफार्म पे शेयर करे और बैकलिंक बनाये। जितना ज्यादा शेयर करेंगे और बैकलिंक बनाएंगे उतना ही ज्यादा रैंक करने का चांस होता है। निचे काफी ज्यादा प्लेटफार्म दिया गया है इसमें से आप जिसपे चाहे अपना कंटेंट शेयर करे अपने डोमेन की अथॉरिटी बढ़ा सकते है और पोस्ट को रैंक करा सकते है।

  1. Quora .com
  2. Pinterest.com
  3. LinkedIn articles
  4. Reddit.com
  5. Tumblr.com
  6. Mewe.com
  7. Medium.com
  8. Mix.com
  9. Pearltrees.com
  10. Issuu.com
  11. Slideshare.net
  12. Fluther.com
  13. Flipboard.com
  14. Dribbble.com
  15. News360.com
  16. Getpocket.com
  17. Answer.com
  18. Minds.com
  19. List.ly
  20. Youtube
  21. Facebook
  22. Google Sites
  23. Instagram
  24. Blogger
  25. Twitter
  26. Telegram
  27. Gab
  28. BitChute.com
  29. Academia.edu
  30. Slideserve.com
  31. Imgur.com
  32. Odysee.com
  33. Warriorforum.com
  34. Afflift.com
  35. Findaforum.net
  36. Freeebooks.net
  37. Instructables.com
  38. Idoc.pub

ये थे SEO के इम्पोर्टेन्ट फैक्टर्स, मैंने यहाँ सिर्फ उनके नाम बताए हैं, मुझे लगता है कि आप इन सबका मतलब जानते होंगे, अगर नहीं, तो मैं अपने अगले आर्टिकल में इन सबके बारे में शेयर करूँगा।

अब आप सोच रहे होंगे कि इसमें नया क्या है, मुझे इसके बारे में पहले से पता था लेकिन मैं बता दूं कि इनमें से कोई भी फैक्टर हिंदी में काम क्यों नहीं करता? यहां हिंदी ब्लॉग में काम करने वाले कारक हैं। तो मैं नीचे बता रहा हूं कि हिंदी ब्लॉग में क्या काम आता है। यानी Hindi Blog SEO के बारे में पूरी जानकारी। कृपया ध्यान से पढ़ें और समझें।


सबसे पहले ये काम पे जरूर ध्यान दे जब भी ब्लॉग पोस्ट लिखे क्यूंकि इनके बिना रैंक करना बहुत मुश्किल है इसलिए ये सभी पॉइंट पे ध्यान दे और इसके हिसाब से अपना कंटें बनाये।

  1. Table of Contents
  2. Select Target
  3. Meta Description
  4. Internal Link
  5. Comment
  6. Backlinks
  7. Forgot keyword research.
  8. Mobile Friendliness
  9. Select Target
  10. Title KD 0 To 30
  11. Perma Link Short

यदि आप एक हिंदी भाषा के ब्लॉगर हैं तो निश्चित रूप से आपके अधिकांश उपयोगकर्ता भारत से होंगे। इसलिए आपका मुख्य लक्ष्य भारत ही होना चाहिए।

दूसरी बात, आज के समय में मुख्य समस्या यह है कि कई ब्लॉगर भाषा का चयन नहीं कर पाते हैं जैसे वे हिंदी बनाम हिंग्लिश में भ्रमित हो जाते हैं, वास्तव में मैं भी पहले बहुत भ्रमित था। तो मैंने सोचा कि मैं इसे व्यावहारिक रूप से स्वयं करूंगा,

इसलिए मैंने 2 महीने के लिए हिंग्लिश में ब्लॉग किया, मुझे अभी जानकारी मिली कि हिंदी हिंग्लिश से बहुत बेहतर है और आज English और हिंदी दोनों ही गूगल की नजर में एक ही चीज हैं, इसलिए आपके लिए भाषा आम तौर पर बोली जाने वाली भाषा जैसे हिंदी को बीच में अंग्रेजी शब्दों के साथ चुनें ताकि उपयोगकर्ता प्रवाह बना रहे।


कीवर्ड रिसर्च कैसे करे?

अगर आप ब्लॉग को जल्दी रैंक करना चाहते है तो आपको कीवर्ड कम डिफिकल्टी पे काम करना पड़ता है इसलिए कभी भी कम KD वाले कीवर्ड पे काम करना चाहिए।

कीबोर्ड रिसर्च करने के लिए आप Ahrefs Free Keyword Tool का यूज़ कर सकते है जो की बहुत ही अच्छा टूल है।

Ahrefs Free Keyword Tool

फ्री में कीवर्ड फाइंड करने के लिए दिए हुए लिंक पे क्लिक करे और इंटर कीवर्ड के जगह पे जो भी कीवर्ड ढूँढना है उसे फइलल करे और अपना टारगेट सेलेक्ट करे – जैसे यूनाइटेड स्टेट के जगह पे आप इंडिया भी सेलेक्ट कर सकते है, आपको जहा भी रैंक करना है उसके हिसाब से सेलेक्ट करके क्लिक करे।

जैसे ही क्लिक करेंगे आपको दूसरा पेज मिलेगा जैसे की निचे की पिक्चर में दिया गया है इसमें से 0 से 5 तक के KD पे आप काम कर सकते है जो की बेहद ही अच्छा होता है। ग्रीन कलर के KD पे काम करना आपके लिए अच्छा है। इसलिए कोसिस कीजिये की काम पे काम करे और पोस्ट लिखे। आप के समझने के लिए नीच का पिक्चर देख सकते है।

कीवर्ड रिसर्च कैसे करे?

आपको ब्लॉग की भाषा कैसे चुने?

किस Query पर आपको लॉन्ग टर्म के लिए फोकस करना है, ऊपर मैंने जो Query बताई है उस पर विचार करें और तय करें कि आप किस Query में रैंक करना चाहते हैं, अपने ब्लॉग की भाषा चुनें और पोस्ट लिखो।

आप सर्च कंसोल पर जाकर अपने ब्लॉग के देश को लक्षित करने के लिए Google वेबमास्टर टूल का उपयोग कर सकते हैं>>ट्रैफिक खोज>>अंतर्राष्ट्रीय लक्ष्यीकरण, आप भारत को लक्षित कर सकते हैं या डोमेन में भी खरीद सकते हैं। इससे आपके हिंदी ब्लॉग की रैंकिंग में सुधार होगा।

मैं यह नहीं कह रहा हूँ कि आपको इंग्लिश का उपयोग नहीं करना चाहिए लेकिन मुझे लगता है कि मुझे इंग्लिश इतना पसंद नहीं आया। यह मेरी निजी राय है किसी और की रे अलग हो सकती है। आप अपनी राय कमेंट में बता सकते है।

अपने हिंदी ब्लॉग का टाइटल कैसे चुने | Hindi blog post title should be?


यहीं पर मुख्य समस्या आती है कि अपने हिंदी ब्लॉग का टाइटल कैसे चुने क्योंकि हिंदी ब्लॉग में यूजर और ब्लॉगर को भी बहुत कन्फ्यूजन होता है इसलिए सबसे पहले मैंने टारगेट चुनने को कहा था। बात यह है कि आपने अपनी लक्षित खोज Query तय कर ली होगी।, अब आप उसके अनुसार टाइटल लिखें। मुझे लगता है कि आप किसी भी 2 प्रकार की खोज Query को लक्षित करते हैं।


CTR (क्लिक थ्रू रेट) बढ़ने की संभावना बहुत अधिक है। तो एक संपूर्ण हिंदी पोस्ट शीर्षक के लिए, आप नीचे दिए गए किसी भी संयोजन को चुन सकते हैं।

Android क्या है हिंदी में?

Android क्या है?

मैंने ऊपर जो उदाहरण दिया है उसके अनुसार आप अपने पोस्ट के लिए एक बेहतर टाइटल चुन सकते हैं।

आप अपने ब्लॉग पेज का शीर्षक अपनी इच्छानुसार रख सकते हैं लेकिन आप हिंदी और अंग्रेजी, इंग्लिश और हिंदी जैसे SEO शीर्षक या मेटा शीर्षक का कोई भी संयोजन चुन सकते हैं।

मेटा टैग हिंदी ब्लॉग एस ई ओ

आप यूजर्स और सर्च इंजन के लिए अलग-अलग टाइटल रख सकते हैं, इसके लिए आप Rank Math & Yoast SEO plugins का इस्तेमाल कर सकते है जो की बहुत पॉपुलर है।

Blog url kaise banaye

हिन्दी पोस्ट का URL क्या होना चाहिए | Blog url kaise banaye

URL किसी भी पोस्ट की सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक होता है, URL को आप इंग्लिश में आसानी से सेट कर सकते हैं लेकिन URL हिंदी में कैसे करें? यह थोड़ा कठिन है। तो इसके लिए मैं आपको सलाह दूंगा कि यू आर एल उसी भाषा में रखें जिस भाषा को आपने सर्च इंजन के लिए टारगेट किया है,

जैसे अगर आपने अपनी हिंदी और अंग्रेजी को टारगेट किया है तो यू आर एल को अंग्रेजी में रखें और अगर आपने हिंदी और अगर आपके पास है लक्षित हिंग्लिश, फिर URL को हिंग्लिश में रखें। मुझे लगता है कि आप जिस भाषा का चयन करते हैं वह एक ही पोस्ट शीर्षक और URL में होनी चाहिए। नीचे URL के कुछ उदाहरण दिए गए हैं।

hindi-blog-seo-kaise-kare
hindi-blog-ko-seo-kaise-kare
how-to-seo-in-hindi-blog & how-to-seo-for-blog-in-Hindi



अपने ब्लॉग के यूआरएल को जितना हो सके छोटा रखें रैंकमैथ प्लगिन्स और seo के हिसाब से सिर्फ 75 सब्द पे रखना चाहिए अगर ज्यादा जरुरी हो तभी ज्यादा से ज्यादा 80 तक कर सकते है लेकिन जितना छोटा होगा उतना अच्छा होगा। यूआरएल छोटा रख कर टाइटल को बड़ा रख सकते है।

उदहारण के लिए:

  • PermaLink – Blogging kaise kare Hindi me
  • Title – Blogging kaise kare Hindi me best ideas 2023

मेटा विवरण (Meta Description)

वैसे तो कई SEO विशेषज्ञ विवरण को सर्च इंजन रैंकिंग के लिए रैंकिंग कारक नहीं मानते हैं। क्यूंकि google search query के हिसाब से आपके description को अपने आप बदल देता है, लेकिन आपको अपनी साइट के हर पोस्ट में एक Unique Description Add करना होगा, आपको अपने Blog में एक Unique Description Add करना होगा. पोस्ट के किसी भी पैराग्राफ का उपयोग किया जा सकता है।

  • आंतरिक लिंक (Inter Linking)

आंतरिक लिंक एक ब्लॉग के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, इसके माध्यम से आप अपने ब्लॉग से ही बैकलिंक्स प्राप्त कर सकते हैं और बाउंस रेट भी कम कर सकते हैं। इसलिए हर पोस्ट में आंतरिक लिंक का उपयोग करें, उदाहरण के लिए आप मेरी पोस्ट ब्लॉगिंग कर सकते हैं। आप देख सकते हैं कि पैसे कैसे कमाए, मैंने इसमें इंटरनल लिंक डेकोरेशन कितने अच्छे से किया है। आप भी अपने ब्लॉग में उसी इंटरनल लिंक का इस्तेमाल करें।

  • टिप्पणी (Comment)


किसी भी ब्लॉग के लिए कमेंट बहुत इम्पोर्टेंट होता है, मुझे आज भी याद है जब मैं अपने ब्लॉग के लिए कमेंट का इंतजार करता था, लेकिन आज मेरे ब्लॉग पर कई कमेंट आते हैं। हिंदी ब्लॉग के लिए कमेंट बहुत जरूरी है

क्योंकि यह आपकी मदद करेगा। ब्लॉग में टिप्पणियों के माध्यम से कीवर्ड और खोज Query RSS को मिलाता है, जिससे आपके खोज प्रदर्शन में वृद्धि होती है। आपको हमेशा अपने ब्लॉग में कमेंट्स का इस्तेमाल करना चाहिए और अपने रीडर्स के कमेंट्स का जवाब देना चाहिए।

कीवर्ड रिसर्च भूल गए?


आप सोच रहे होंगे कि मैंने क्या कहा? हाँ, आप इसे पढ़ें। कई हिंदी ब्लॉगर अपने ब्लॉग में अंग्रेजी कीवर्ड का उपयोग करते हैं। लेकिन अगर आप अंग्रेजी कीवर्ड का उपयोग करते हैं, तो आपका ब्लॉग हिंदी में नहीं बल्कि अंग्रेजी शब्द के लिए रैंक करेगा। तो मेरी सलाह है कि आप कीवर्ड की जगह किसी अच्छी सर्च Query का इस्तेमाल करें। इसे अपने ब्लॉग में लक्षित करें और सजाएं।

मान लीजिए मैंने Android फ़ोन के बारे में एक लेख लिखा है तो मैं आपका कीवर्ड “Android” चुनूंगा लेकिन यह बिल्कुल गलत तरीका है क्योंकि यदि आप ऐसा करते हैं तो आपको इससे कोई लाभ नहीं होगा।

मुझे लगता है कि आप न्यूट्रल तरीके से आर्टिकल लिखते हैं, जिसे लोग पसंद करते हैं, आपको पता भी नहीं चलेगा कि बिना कीवर्ड के आपका ब्लॉग कैसे अच्छा रैंक करेगा।

असल में मैंने भी अपने ब्लॉग में कभी कीवर्ड रिसर्च नहीं किया लेकिन मेरी रैंकिंग हाई है बस जो लोग पढ़ना पसंद करते हैं उन्हें लिखो बस।

Mobile Friendliness & Mobile Friendly Seo

मैंने कई हिंदी ब्लॉगर्स के ब्लॉग देखे हैं, उनके ब्लॉग डेस्कटॉप और ओपन पर बहुत अच्छे लगते हैं, लेकिन जब हम उन्हें मोबाइल में इस्तेमाल करते हैं, तो लोडिंग और पेज दोनों की परफॉर्मेंस बहुत कम हो जाती है। इसलिए आपको इसका अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। आपकी साइट Responsive और Mobile Friendly होनी चाहिए। क्योंकि यह SEO और सर्च इंजन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण रैंकिंग फैक्टर है।

दोस्तों आप सभी जानते हैं कि 50% से ज्यादा यूजर मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं और कुछ पढ़ने के लिए मोबाइल से सर्च करते हैं तो गूगल के फ्री टूल मोबाइल फ्रेंडली टेस्ट का इस्तेमाल करके चेक करें कि आपका ब्लॉग मोबाइल फ्रेंडली है या नहीं। साथ ही, सुनिश्चित करें कि आपका ब्लॉग मोबाइल के अनुकूल है।

दोस्तों, वैसे तो SEO का विषय कभी खत्म नहीं होगा, लेकिन मैंने इस लेख के माध्यम से SEO से संबंधित सभी हिंदी ब्लॉग का उल्लेख किया है, अन्य SEO कारक अंग्रेजी ब्लॉग की तरह ही हैं। अगर मुझे और जानकारी मिलती है तो मैं इस पोस्ट के माध्यम से दूंगा। मैं आपको जरूर बताऊंगा और अगर आपके पास हिंदी ब्लॉग SEO के बारे में कुछ अतिरिक्त जानकारी है तो कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं। या आप हमे गेस्ट पोस्ट लिख सकते है अच्छा पोस्ट DA होने पे आपको बैकलिंक दी जाएगी।

FAQs.


Local SEO कैसे करें?

लोकल SEO करने का सबसे आसान तरीका है अपने छेत्र, सहर और जगह के बारे में लिखना यानि उस नाम को अपने ब्लॉग पोस्ट में शामिल करना इसके साथ साथ टाइटल, मेटा टैग, डिस्क्रिप्शन, हेड लाइन्स में शामिल करना।

Schema Markup से SEO में क्या फायदा मिलेगा?

इसके सबसे अच्छा फ़ायदा है कंटेंट गूगल में रिच सनिप्पस्त (RICH SNIPPETS) में रैंक करता है। इसके साथ साथ सर्च इंजन आपके कंटें को पूरी तरह समझ पता है जिससे क्रॉलबिलिटी बढ़ती है।

कैसे पता करें की ब्लॉग पोस्ट गूगल में इंडेक्स है या नहीं?

अपने ब्लॉग और वेबसाइट के पोस्ट को गूगल पे चेक करने के लिए आपको अपने वेबसाइट के लिंक के पहले site:https://example.com और अगर पोस्ट का करना है तो लास्ट में /Blog Post को गूगल में डायरेक्ट सर्च करे सारे इंडेक्स पोस्ट और पेज आपको दिख जायेंगे।

कोई नया ब्लॉग गूगल में क्यों नहीं दिखता है?

गूगल में नया ब्लॉग देखने के लिए आपको काम से काम 10 अच्छे पोस्ट लिखने पड़ेंगे और अपनी वेबसाइट को सर्च कंसोल में verified करना होगा। गूगल सैंड इफ़ेक्ट के कारण नया ब्लॉग गूगल के सर्च इंजन में नहीं दीखता है इसलिए कुछ पोस्ट लिखने के बाद चेक करे।


Conclusion:

ब्लॉगिंग करना आसान है लेकिन सही तरीके से ब्लॉग्गिंग करेंगे तभी आपको सफलता मिलेगी। किसी एक नीच पे काम करे और रिसर्च करके तभी ब्लॉग लिखे। ब्लॉग्गिंग करने में जो दिक्कत आती है उसपे मैंने आप सभी को अच्छे से समझाया और बताया अगर आपको मेरा पोस्ट अच्छा लगे तो हमे कमेंट बॉक्स में जरूर बताये धन्यवाद।

Leave a Reply

DMCA.com Protection Status