Storekeeper Responsibilities In Hindi – Best Store keeper (2022 ) Tips

Storekeeper Responsibilities In Hindi: आज की वीडियो या पोस्ट अगर आप देख ले रहे है और समझ ले रहे है तो ये मेरा वादा है की आपको इस काम के बारे में काफी experience हो जायेगा और ऐस experience आपको सिर्फ काम करके ही मिल सकता है जो की बिना select होकर गए मिलना मुश्किल है। 

आपको भी पता है की एक स्टोरकीपर का काम करने के हर किसी की चाहत होती है खास कर करके हम मिडिल क्लास फॅमिली वालो को क्यूंकि पैसे के अभाव में या फॅमिली के फाइनेंसियल कंडीशन के वजह से हमें ऑफिस लाइन का जॉब लेना पड़ता है।  

ऑफिस लाइन के जॉब में स्टोरकीपर एक ऐसा ऑप्शन है की इसमें जो चला जाता है काम करने उसे उसकी लाइफ में वो कमी पूरी हो जाती है जिसे वो करना चाहता है। यहाँ मेरा कहने का मतलब है की अगर आप कोई बड़ा कोर्स यानि सबसे पहले इंजीनियर ही आता है क्यूंकि इसे सबसे जयादा लोग करना चाहते है। 

इंजीनियर के बाद हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर या आईटी या कोई बड़ा टेक्निकल कोर्स जिससे अच्छे पैसे कमा सके तो ये सबकी कमी पूरी हो जाती है। क्यूंकि स्टोरकीपर में अच्छे सैलरी और साथ में फैसिलिटी भी मिलती है कंपनी के अंदर और इस काम में सिर्फ स्टोरकीपर ही नहीं आप इससे आगे भी जा सकते है जो की बहार विदेश में काफी डिमांड है। 

जैसे आप स्टोरकीपर से स्टोर सुपरवाइजर, वेयरहाउस कोर्डिनेटर, असिस्टेंट वेयरहाउस मैनेजर, वेयरहाउस मैनेजर, हेड ऑफ़ वेयरहाउस डिपार्टमेंट इसमें से कोई भी आप हो सकते है अगर आपके पास अच्छी जानकारी है। अच्छी जानकारी के साथ अच्छा इंग्लिश और ईमेल करना कम्युनिकेशन स्किल्स होना साथ ही साथ मैटेरियल्स की अच्छी नॉलेज होना बहुत जरुरी है। 

इसलिए मैं कहता हु आपलोग से की मैटेरियल्स की जानकारी जरुरी है वीडियो देखिये और सीखिए उसके बाद आप कही भी जाकर इंटरव्यू दीजिये बिलकुल आप सेलेक्ट होंगे ये मेरा वादा है। 

Storekeeper Responsibilities In Hindi

Storekeeper Responsibilities In Hindi
Earth Work Materials Name In Hindi

Earth Work Materials क्या है? What is Earth Work Materials In Hindi & Urdu

Earth वर्क मैटेरियल्स वो होते है जो जमीन में इस्तेमाल यानि की जमीं के कामो आते है। इसका अर्थ ही होता है जमीन सामिग्री। 

जैसे – Sand, Gravels, Sub -Base आदि ये सब Earth वर्क में आते है। 

Sub-Base Kya hai? What is Sub-Base In Hindi & Urdu

Sub-Base Course वो है जो सबग्रेडे के तुरंत बाद लेयर डाली जाती है। इसका सबसे महतपूर्ण फ़ायदा ये है की ये Load को Reduce करता है और Subgrade करता है। 

इसके अलावा Sub Base drainage लेयर के रूप में भी काम करता है। उसे प्रोटेक्ट करता है ताकि पानी उसमे पास न करे साथ ही साथ ये Dust से भी बचता है। 

Steel Rebars Materials Definition In Hindi

Steel Rebars Materials Definition | What is Steel Rebars In Hindi?

स्टील रेबर्स मैटेरियल्स वो होते है जो धातु यानि लोहे के बने होते है जिसे हम सरल सब्दो में चढ़ या रॉड बोलते है इसे ही इंग्लिश में steel bar और steel rebars materials बोलै जाता है। 

इसमें और भी अलग टाइप्स के आते है जिसे हम डी-फोर्मेड स्टील रेबर्स और डी – फोर्मेड स्टील बार कहते है। इसका वेल्डेड टाइप्स में भी आता है। ज्यादा जानकारी के लिए आप वीडियो देख सकते है जिससे ये भी क्लियर हो जायेगा। 

What is mobilization in company – Mobilization Department me kaam kaise hota hai

What is mobilization in company | Mobilization Department me kya kaam hota hai 

Mobilization Department के बारे में मैं पहले भी बताया था लेकिन आज आपलोग को यहाँ भी कुछ बताना चाहते है क्यूंकि इसके बारे में कोई पोस्ट नहीं है। 

Mobilization Department में बहुत से काम होते है, जिसके बारे में बताना चाहता हु की इसमें जायदा काम पोर्टा कैबिने और कंटेनर साथ ही साथ और भी सामग्री आती है लेकिन इसमें सबसे ज्यादा जो इससे रिलेटेड है वो यही है। 

इनका भी एनुअल इन्वेंटरी और इन और आउट रिकॉर्ड स्टोरकीपर के तरह होता है और इसमें इनका एक अलग नंबर भी लगाया जाता है हर पोर्टा कैबिने और कंटेनर के साथ जिससे इसे आसानी से पहचानने में मदद मिलती है और उसी नंबर के साथ इसकी इन्वेंटरी होती है। 

पोर्टा कैबिने वर्कर के रहने से लेकर ऑफिस के काम तक इसकी इस्तेमाल की जाती है। साथ ही साथ इसमें वो साडी सुविधा होती है  जो एक रूम में होती है।  इसके अंदर में सिंक और roofmate का इस्तेमाल किया जाता है साथ सी साथ सैंडविच पैनल भी होते है जिससे इसकी तापमान काम होता है। 

वही कंटेनर को मैटेरियल्स यानि सामग्री के स्थानांतरण ( ट्रांसफररिंग ) करने से लेकर इसमें स्टोर के इस्तेमाल तक की जाती है। कंपनी के साइट पे जब काम चलता है तो स्टोरकीपर के लिए यानि कंटेनर स्टोर के रूप में इस्तेमाल होती है। 

इसे स्टोर बना कर स्टोरकीपर को दे दिया जाता है जिसे एक टेबल , कुर्सी , ऐसी ( AC ) लगा कर दिया जाता है।  साथ ही साथ इसमें रैक भी बनाया जाता है जिससे मैटेरियल्स रखने में सुविधा होती है। 

Office Supply Department Work

Office Supply Department Work | ऑफिस सप्लाइज में काम कैसे होता है। 

ऑफिस सप्लाइज में ऑफिस से सम्बंधित सामग्री होती है जिसे एक स्टोरकीपर और स्टॉक कंट्रोलर को देखना होता है। इसमें भी प्रोसेस वही होता है इससे सम्बंधित जितनी भी सामग्री है वो स्टॉक करके कंपनी के साइट और ऑफिस में सप्लाई किया जाता है जिसके लिए भी MR की जरुरत पड़ती है। 

Power Tools Materials & Definition? What is Power Tools? पावर टूल्स क्या है?

Power Tools Materials & Definition? What is Power Tools? पावर टूल्स क्या है?

पावर टूल्स में इलक्ट्रोनिक यानि इलेक्ट्रिक मशीनरी आती है जिसे पावर टूल्स डिपार्टमेंट देख रेख करता है।  इसमें भी स्टोरकीपर की जरुरत होती है और स्टोरकीपर काम करता है। अगर आप स्टोरकीपर में जा रहे है तो हो सकता है आपको सिर्फ पावर टूल्स डेपार्टमेंट मिले। 

अगर आप इसमें नहीं जार रहे तब भी इससे सम्बंधित मैटेरियल्स आपको मिलेगा क्यूंकि इसके बिना काम नहीं चलता है। इसे बहुत सावधानी से आप देखे इसका अलग से फाइल बना ले और जिसे भी दे उसका पूरा डिटेल्स रखे उसका signature बैज यानि ID नंबर भी लेले और इसका पेपर संभल के रखे। 

What is the scaffolding department? Scaffolding Department kya hai?

What is the scaffolding department? Scaffolding Department kya hai?

स्कैफफोल्डिंग देपार्टमेटन भी वेयरहाउस जैसा होता है जिसमे काफी सामग्री होती है जिसका उपयोग सौंपने और आर्गेनाइजेशन के प्रोजेक्ट और साइट पे किया जाता है। ये काम सबसे पहले स्टार्ट होता है और ये ladder के जगह इस्तेमाल होता है। ताकि ऊँची जगह आसानी से पहुंच कर काम किया जा सके। ये जल्दी ख़राब नहीं होते शलो शाल चलता है। इसको भी इन्वेंटरी में लिया जाता है और आउट एंड इन होता है।

How to work store keeper in safety department

 How to work store keeper in safety department | Safety Storekeeper कैसे काम करते है। 

सेफ्टी स्टोरकीपर का काम भी वही होता है जो एक स्टोरकीपर को करना पड़ता है इसमें मैटेरियल्स अलग होता है। जो की सेफ्टी से सम्बंधित होता सामिग्री होती है। जैसे पिक्चर में और वीडियो में बताया गया है। ज्यादा जानकारी के लिए निचे दिए हुए लिंक पे क्लिक करके वीडियो के माध्यम से और अधिक जानकारी ले सकते है। और देखना भी चाहिए इससे आपको काफी मदद मिलेगी। 

अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगे तो कमेंट करे और अपनी राय जरूर दे जिससे मेरी हौसला बढ़ता है। धन्यवाद। 

Leave a Reply

%d bloggers like this: